Tuesday, August 16, 2022

Cyber Crime : गूगल ने दी चेतावनी, लोगो का फोन हैक कर रहे हैं इटैलियन हैकर्स

Hackers hacking Apple and Android Smartphones : गूगल ने गुरुवार को एक रिपोर्ट पेश की. रिपोर्ट में गूगल ने कहा कि कुछ लोगो ने इटली की कंपनी के हैकिंग टूल का इस्तेमाल करके इटली और कजाकिस्तान में ऐपल और एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूजर्स की जासूसी की थी. इस स्पाइवेयर का नाम हरमिट बताया जा रहा है. जानकारी के लिए बता दें कि इटली और कजाकिस्तान की सरकारों ने अब तक इस मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं की है. आइए इस बारे में डिटेल्स में जानते हैं.

सामने आई रिपोर्ट से पता चलता है कि मिलान स्थित RCS लैब द्वारा विकसित किए टूल से टारगेट डिवाइस के प्राइवेट मैसेजेस और कॉन्टेक्ट की जासूसी हुई. इसपर RCS लैब की वेबसाइट ने कहा, “यूरोपीयन लॉ इंफोर्समेंट एजेंसियां हमारी कस्टमर्स हैं. यूरोपीय और अमेरिकी रेगुलेटर्स स्पाइवेयर की बिक्री और आयात पर संभावित नए नियमों की जांच कर रहे हैं.” गूगल ने कहा कि ये वेंडर्स खतरनाक हैकिंग टूल के बढ़ावा देने का काम कर रहे हैं

गूगल ने एंड्रॉयड यूजर्स की सुरक्षा के लिए उठाए कदम

गूगल ने एक बयान के अनुसार, गूगल अपने एंड्रॉयड यूजर्स की सुरक्षा के लिए कदम उठाते हुए यूजर्स को हर्मिट नाम के स्पाइवेयर के बारे में चेतावनी दी है. गूगल ने कहा कि हमने स्पाइवेयर द्वारा टारगेट यूजर्स को चेतावनी दे दी है और सॉफ़्टवेयर की सुरक्षा को भी बढ़ा दिया है. टेक टाइटन के मुताबिक, Google की एक टीम 30 से अधिक ऐसी कंपनियों को ट्रैक कर रही है जो सरकारों को सर्विलांस क्षमताओं की सुविधा देती है. गूगल ने आगे कहा कि सरकारों के लिए स्पाइवेयर बनाने वाली इंडस्ट्री ग्लोबल पैमाने पर बढ़ रही है, इनमें से ज्यादातर कंपनियां लॉ इंफोर्समेंट के लिए इंटरसेप्शन टूल डेवलप कर रही हैं.

ऐपल एंड्रॉयड यूजर्स की सुरक्षा के लिए उठाए कदम

 Apple के एक प्रवक्ता ने कहा, “कंपनी ने इस हैकिंग मिशन से जुड़े सभी ज्ञात अकाउंट और सर्टिफिकेशन के खिलाफ सख्त एक्शन लेते हुए उन्हे हटा दिया है.”

Similar Posts